Pradhan Mantri Shram Yogi Maan-Dhan Yojna की पूरी जानकारी

https://www.technicalgr.com/

55 रुपये जमा करने पर मिलेगी 3,000 की मंथली पेंशन... 

असंगठित क्षेत्र के कामगार के लिए शुरू की गई प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का पंजीकरण शुरू हो गया है।
इस योजना के तहत सरकार देश भर में असंठित क्षेत्रों में काम करने 42 करोड़ कामगारों को जोड़ना चाहती है। योजना रेहड़ी-पटरी लगाने वालों, रिक्शा चालक, निर्माण कार्य करने वाले मजदूर और इसी प्रकार के अनेक अन्य कार्यों में लगे असंगठित क्षेत्र के कामगारों को कवर करेगी।

प्रधानमंत्री आवास योजना-धन योजना (PM-SYM) योजना के बारे में मुख्य बातें :-


1. पीएम-एसवाईएम श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा प्रशासित और भारतीय जीवन बीमा निगम और सीएससी ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड (सीएससी एसपीवी) के माध्यम से कार्यान्वित केंद्र सरकार की एक योजना है।
2. पीएम-एसवाईएम पेंशन योजना के तहत एकत्रित राशि को भारत सरकार द्वारा निर्दिष्ट निवेश पैटर्न के अनुसार निवेश किया जाएगा।
3. पीएम-एसवाईएम एक स्वैच्छिक और योगदान आधारित योजना है जिसके तहत सब्सक्राइबर को न्यूनतम मासिक पेंशन रु 60 साल की उम्र से 3,000 रु मिलेगी |
4. ग्राहक का योगदान 18 वर्ष की आयु में 55रु से लेकर 40 वर्ष की आयु में 200रु प्रति माह तक होगा | इतना ही योगदान भारत सरकार द्वारा दिया जायेगा ।
निचे दी गई तालिका से पूरी स्थिति समझे :-
https://www.technicalgr.com/


5. पीएम-एसवाईएम योजना असंगठित श्रमिकों के लिए है जो ज्यादातर गृह आधारित श्रमिक, स्ट्रीट वेंडर, मिड-डे मील वर्कर, हेड लोडर, ईंट भट्ठा वर्कर, कॉबलर, रैग पिकर, घरेलू कामगार, वॉशर मेन, रिक्शा चालक, ग्रामीण भूमिहीन के रूप में काम करते हैं। विज्ञप्ति के अनुसार मजदूर, स्वयं के खाते में काम करने वाले, कृषि श्रमिक, निर्माण श्रमिक, बीड़ी श्रमिक, हथकरघा श्रमिक, चमड़ा श्रमिक, दृश्य-श्रव्य श्रमिक और इसी तरह के अन्य व्यवसाय करने वाले इस योजना का लाभ उठा सकते हे |
6. पीएम-एसवाईएम योजना के अंतर्गत नामांकनःअभिदाता के पास मोबाइल फोन, बचत बैंक खाता तथा आधार संख्या होना अनिवार्य है। पात्र अभिदाता नजदीकी सीएससी जाकर आधार नम्बर तथा बचत बैंक खाता/जनधन खाता संख्या को स्वप्रमाणित करके पीएम-एसवाईएम के लिए नामांकन करा सकते हैं। 
बाद में अभिदाता को पीएम-एसवाईएम वेब पोर्टल पर जाने तथा मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की सुविधा दी जाएगी और अभिदाता आधार संख्या /स्वप्रमाणित आधार पर बचत बैंक खाता / जनधन खाता का इस्तेमाल करते हुए अपना पंजीकरण करा सकते हैं।
7. योजना से बाहर निकलना और वापसीः असंगठित मजदूरों के रोजगार के अनिश्चित स्वभाव को देखते हुए योजना से बाहर निकालने के प्रावधान लचीले रखे गए हैं। योजना से बाहर निकलने के प्रावधान निम्नलिखित हैं: 
(i)  यदि अभिदाता 10 वर्ष से कम की अवधि में योजना से बाहर निकलता है तो उसे केवल लाभार्थी के अंशदान के हिस्से को बचत बैंक ब्याज दर के साथ दिया जाएगा।
(ii)  यदि अभिदाता 10 वर्षों या उससे अधिक की अवधि के बाद लेकिन 60 वर्ष की आयु होने से पहले योजना से बाहर निकलता है तो उसे लाभार्थी के अंशदान के हिस्से के साथ कोष द्वारा अर्जित संचित ब्याज के साथ या बचत बैंक ब्याज, दर जो भी अधिक हो, के साथ दिया जाएगा।
(iii)  यदि लाभार्थी ने नियमित अंशदान किया है और किसी कारणवश उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसका जीवनसाथी नियमित अंशदान करके इस योजना को आगे जारी रख सकता है या कोष द्वारा अर्जित एकत्रित वास्तविक ब्याज या बचत बैंक ब्याज दर, जो भी अधिक हो, के साथ लाभार्थी का अंशदान लेकर योजना से बाहर निकल सकता है।
(iv)  यदि लाभार्थी ने नियमित अंशदान किया है और 60 वर्ष की आयु से पहले किसी कारणवश से स्थायी रूप से दिव्यांग हो जाता है और योजना के अंतर्गत अंशदान करने में अक्षम होता है तो उसका जीवनसाथी नियमित अंशदान करके इस योजना को आगे जारी रख सकता है या कोष द्वारा अर्जित एकत्रित वास्तविक ब्याज या बचत बैंक ब्याज दर, जो भी अधिक हो, के साथ लाभार्थी का अंशदान प्राप्त कर योजना से बाहर निकल सकता है। 
(v)  अभिदाता और उसके जीवनसाथी दोनों की मृत्यु के बाद संपूर्ण राशि कोष में जमा करा दी जाएगी।
(vi)  एनएसएसबी की सलाह पर सरकार द्वारा तय योजना से बाहर निकलने का कोई अन्य प्रावधान।


ये उठा सकते हैं इस स्कीम का फायदा...

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन स्कीम कल के तहत कोई भी अंसगठित क्षेत्र से जुड़ा हुआ कामगर जिसकी उम्र 40 वर्ष से कम हो और किसी भी सरकारी स्कीम का फायदा न ले रहा हो, वह इसका फायदा उठा सकता है।

पति, पत्नी में से जिसे पेंशन का लाभ मिल रहा है, यदि उसकी मौत हो जाती है तो उसके बच्चों को उसकी पेंशन नहीं मिल सकेगी। इस स्कीम में आवेदन करने वाले व्यक्ति की मासिक आय 15 हजार रुपए से कम होनी चाहिए। सरकार ने इस पेंशन स्कीम को असंगठित क्षेत्र को ध्यान में रखते हुए पेश किया है।

हर महीने जमा करने होंगे 55 रुपए...
यदि कोई 18 साल की उम्र से इस स्कीम को शुरू करता है तो उसे हर माह 55 रुपए जमा करना होंगे। वहीं जो व्यक्ति 40 साल की उम्र से इस स्कीम को शुरू करेगा उसे हर माह 200 रुपए जमा करना होंगे। 60 साल की उम्र पूरा होने के बाद आपको पेंशन मिलना शुरू हो जाएगी।

मिलेगी 3 हजार रुपये की पेंशन
सरकार इस स्कीम को लेने वाले को 3 हजार रुपए मासिक पेंशन देगी। सरकार और पेंशन लेने वाले एक समान अमाउंट पेंशन के लिए देंगे।


होना चाहिए आधार कार्ड...
 आवेदन करने वाले व्यक्ति के पास सेविंग बैंक अकाउंट और आधार कार्ड होना जरूरी है। व्यक्ति की उम्र 18 साल से कम और 40 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

ऐसे करवाएं पंजीकरण... 
श्रमिकों को योजना के लिए कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) में पंजीकरण करवाना होगा। केंद्र सरकार ने आम बजट में इस पेंशन योजना की घोषणा की थी। भारत सरकार ने योजना के लिए वेब पोर्टल बनाया है। सीएससी सेंटर के संचालक इसी पोर्टल पर श्रमिकों का पंजीकरण करेंगे। पंजीकरण ही श्रमिकों को आवेदन माना जाएगा। श्रम विभाग में योजना के लिए आवेदन करने की जरूरत नहीं है। सीएससी सेंटरों के माध्यम से ही ऑनलाइन सभी जानकारी भारत सरकार को चली जाएगी।

देनी होगी ये जानकारी...
पंजीकरण के लिए श्रमिक अपना आधार कार्ड, बचत या जनधन बैंक खाते की पासबुक, मोबाइल नंबर लेकर जाएं। इसके साथ ही सहमति पत्र भी देना होगा। इसके बाद श्रमिक का पंजीकरण होगा। पंजीकरण के बाद सहमति पत्र उस शाखा में भी देना होगा, जिसमें श्रमिक का बैंक खाता होगा, तभी उसके खाते से अंशदान कटेगा।

भारत सरकार ने प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धान (PM-SYM) की शुरुआत की है जो 18-40 वर्ष की आयु के असंगठित श्रमिकों के लिए एक स्वैच्छिक और अंशदायी पेंशन योजना है, जिसकी मासिक आय 15,000 / - से कम है। कर्मचारी को किसी भी वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजनाओं जैसे राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस), कर्मचारी राज्य बीमा निगम योजना, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन योजना के तहत कवर नहीं किया जाना चाहिए और आयकर दाता नहीं है।

यदि कोई असंगठित श्रमिक इस योजना की सदस्यता लेता है और 60 वर्ष की आयु तक नियमित योगदान का भुगतान करता है, तो उसे रु। की न्यूनतम मासिक पेंशन मिलेगी। 3000 / -। उसकी मृत्यु के बाद, पति / पत्नी को मासिक पारिवारिक पेंशन मिलेगी जो पेंशन का 50% है।

आयु या आय का कोई अलग प्रमाण नहीं देना होता है। स्व-प्रमाणन और आधार संख्या प्रदान करना नामांकन का आधार होगा।👆

योजना के प्रवेश काल में ग्राहक के योगदान की वास्तविक राशि निर्धारित की जाएगी। 29 वर्ष की औसत आयु में, एक लाभार्थी को प्रति माह 100 / - रु। का अंशदान देना होता है।

टोल फ्री नंबर पर लें जानकारी...

सरकार ने योजना के लिए श्रम विभाग के कार्यालय, ➕एलआईसी➕, ईपीएफओ को श्रमिक सुविधा केंद्र बनाया गया है। इन दफ्तरों में जाकर श्रमिक योजना की जानकारी ले सकते हैं। सरकार ने योजना के लिए 18002676888 टोल फ्री नंबर जारी किया है। इस नंबर से भी योजना की जानकारी ली जा सकती है।
Pradhan Mantri Shram Yogi Maan-Dhan Yojna की पूरी जानकारी Pradhan Mantri Shram Yogi Maan-Dhan Yojna की पूरी जानकारी Reviewed by GR SEN on March 21, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.